Connect with us

लखनऊ लाइव

स्टार भारत के ‘राधाकृष्ण’ पहुंचे नवाबों के शहर लखनऊ…

Published

on

लखनऊ: स्टार भारत पर प्रसारित ‘राधाकृष्ण’ शो के प्रमुख कलाकार सुमेध मुदगलकर और मल्लिका सिंह नवाबों की नगरी का दौरा करेंगे। स्टार भारत का लोकप्रिय पौराणिक शो ‘राधाकृष्ण’ राधा और कृष्ण के जीवन और उनकी प्रेम कहानी पर आधारित है। इस कहानी में दोनों के प्रेम की गहराई को समझाया गया है जिस कारण आज भी दोनों एक हैं। दर्शकों के लिए यह प्रेम कहानी एक प्रेरणा स्रोत हैं। आपको बता दें कि यह शो जुलाई में अपने 250 एपिसोडज पूरे कर रहा है ।

शो के करेंट ट्रैक में कंस (अर्पित रांका) ने माँ पार्वती (शाली मुशी) को वचन देते हुए कहा कि एकदंश के प्रहार से राधा और कृष्ण को किसी भी तरह का नुकसान नहीं होगा। ऐसे में अयान (राधा के पति) पर हमले के दौरान अचानक राधा अपने पति को बचाने के लिए उन दोनों के बीच आ जाती हैं और हमले की शिकार हो जाती हैं। अब कृष्ण ही अकेले हैं, जो उन्हें बचा सकते हैं, इसलिए कृष्णा एक महिला वैद्य का रूप धरकर राधा को बचाने पहुंचते हैं और राधा के शरीर के लिए को राय खींच लेते हैं।

ये भी पढ़े: सोनभद्र जा रहीं प्रियंका गांधी को मिर्जापुर में किया गया नजरबंद, कांग्रेस कार्यकर्ताओं में रोष

इस शो के टैलेंटेड लीड ऐक्टर सुमेध मुदगलकर अपने नए अवतार को लेकर अपनी उत्सुकता दिखाते हुए बताते हैं, मैं अच्युता के नए अवतार में बहुत मोहक लग रहा हूं| मेरी कॉस्ट्यूम और मेकअप टीम ने मेरे इस किरदार को एक बूढ़ी वैद्य महिला का लुक देने में कड़ी मेहनत की है। मुझे विश्वास है कि दर्शकों को मेरा काम पसंद आएगा। मैं दर्शकों की प्रतिक्रिया के लिए बहुत उत्साहित हूं कि उन्हें मेरा नया लुक कैसा लगा। मैं दर्शकों का शुक्रगुजार हैं, जिन्होंने मुझे और मेरे शो को ढेर सारा प्यार दिया। यह प्यार और बढ़ता जाएगा जब वह मुझे और मल्लिका को एक साथ आने वाले शो में देखेंगे।

लखनऊ पहुंची उत्साहित मल्लिका सिंह बताती हैं, जिस प्रकार हम दोनों को दर्शकों ने अपनाया है, मैं और सुमेध इस बात से बहुत खुश हैं। शो का करेंट ट्रैक मेरे लिए बहुत चुनौतीपूर्ण है। शो के सभी किरदार इस ट्रैक में पूरी लगन से काम कर रहे हैं। मुझे सुमेध को सेट पर देखकर लगा ही नहीं कि वह सुमेध है। वह अच्युता के किरदार में बहुत कम्फर्टेबल लग रहे थे। मुझे विश्वास है कि दर्शकों को आने वाला ट्रैक बेहद पसंद आएगा, जो प्रेम के लिए एक बड़ा संदेश है।http://www.satyodaya.com

लखनऊ लाइव

कासिम सुलेमानी की याद में मौलाना कल्बे जव्वाद ने निकाला जुलूस

Published

on

लखनऊ। पिछले दिनों एक अमेरिकी हवाई हमले में ईरानी सैन्य कमांडर कासिम सुलेमानी की हत्या के खिलाफ लखनऊ में प्रदर्शनों का सिलसिला जारी है। रविवार को लखनऊ में कासिम सुलेमानी की याद में एक जुलूस निकाला गया। यह जुलूस अंजुमने गुनचाये मेहंदिया के नेतृत्व में हुसैनाबाद स्थित रईस मंजिल से निकाला गया। जुलूस में शिया धर्म गुरू मौलाना कल्बे जव्वाद और दीगर ओलमा भी शामिल हुए। जुलूस में सैकड़ों लोगों ने हाथों में तख्तियां लेकर अमेरिका मुर्दाबाद के नारे लगाए।

यह भी पढ़ें-ऑनलाइन कंपनियों से प्रतिस्पर्धा के लिए व्यापार के आधुनिक तरीके अपनाएं व्यापारी: संजय गुप्ता

जुलसू में बच्चे, बजुर्ग और महिलाओं भी शामिल रहीं। प्रदर्शनकारियों ने अमेरिका का पुतला बनाकर उसे जूतों की माला पहनायी और फिर आग लगा दी।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

लखनऊ लाइव

ऑनलाइन कंपनियों से प्रतिस्पर्धा के लिए व्यापार के आधुनिक तरीके अपनाएं व्यापारी: संजय गुप्ता

Published

on

सर्वोदय नगर आदर्श व्यापार मंडल ने आयोजित ‘व्यापारी पंचायत’

लखनऊ। सर्वोदय नगर आदर्श व्यापार मंडल ने रविवार को ‘व्यापारी पंचायत’ का आयोजन किया। जिसमें संगठन अध्यक्ष संजय गुप्ता के साथ अन्य व्यापारी नेता, विद्युत विभाग, नगर निगम, पुलिस-प्रशासन और बैकों के अधिकारी भी शामिल रहे। व्यापारी पंचायत में सर्वोदय नगर के व्यापारियों ने क्षेत्र में जाम की समस्या उठाई। जिस पर पंचायत में बैठे पुलिस प्रशासन के अधिकारियों ने इसका जल्द समाधान करने की बात कही।

सर्वोदय सर्वोदय नगर आदेश व्यापार मंडल के अध्यक्ष मोहम्मद रिजवान, महामंत्री केके शर्मा ने अतिक्रमण विरोधी अभियान के नाम पर व्यापारियों के उत्पीड़न का मुद्दा उठाया। कहा कि अतिक्रमण विरोधी अभियान की जानकारी ठेले-खोमचे वालों को पहले ही मिल जाती है और वह मौके से गायब हो जाते हैं। जबकि नगर निगम के अधिकारी व्यापारियों का मामूली सा भी सड़क पर रखा हुआ सामान उठा ले जाते हैं और जुर्माना लगा देते हैं। व्यापारियों ने बैंकों द्वारा मुद्रा लोन योजना के तहत लोन न देने का मुद्दा उठाया। जिस पर पंचायत में मौजूद बैंक अधिकारियों ने इस समस्या का निदान कराने का आश्वासन दिया। बैंक अधिकारियों ने कहा, व्यापारियों को उनकी बैंक शाखा से प्राथमिकता के आधार पर मुद्रा ऋण दिए जाएंगे। व्यापारी नेता संजय गुप्ता ने कहा, मुद्रा ऋण योजना के तहत व्यापारियों को उपलब्ध कराए जाने के लिए जिलाधिकारी से मुलाकात कर अपनी समस्या उठाई जाएगी।

संजय गुप्ता ने कहा, अमेजॉन और फ्लिपकार्ट आर्थिक आतंकवादी हैं, इनसे चरणबद्ध तरीके से निपटना होगा। व्यापारी नेता संजय गुप्ता ने व्यापारियों से समूह के रूप में स्वयं का ऑनलाइन पोर्टल बनाकर अपना व्यापार बढ़ाने को कहा। कहा, व्यापारी आधुनिक तरीके को अपनाएं तथा डिजिटल पेमेंट एवं डिजिटल मार्केटिंग के माध्यम से अपने ग्राहकों की हर मांग के अनुरूप अपने व्यवसाय को तैयार करें, तभी प्रतिस्पर्धा में टिक पाएंगे। व्यापारी पंचायत में बुजुर्ग व्यापारियों को सम्मानित किया गया। संगठन के प्रदेश अध्यक्ष संजय गुप्ता को व्यापारियों ने फूल-माला पहना कर स्वागत किया। व्यापारी पंचायत में पंकज जैन, दिनेश पांडे, अशोक यादव, रंजीत सिंह, सईद अहमद, राम नाथ सिंह, अर्जुन शुक्ला, राजू, सुमित, राम करण शुक्ला को सम्मानित भी किया गया। पंचायत में पुलिस प्रशासन की ओर से चौकी इंचार्ज सर्वोदय नगर शिवमंगल सिंह विद्युत विभाग की ओर से जूनियर इंजीनियर विक्रम सिंह, बैंक ऑफ इंडिया सर्वोदय नगर शाखा के प्रबंधक शुभम सिन्हा, सिंडीकेट बैंक की सर्वोदय नगर शाखा की प्रबंधक कुमारी प्रीति अग्रवाल एवं क्षेत्रीय पार्षद मनोज अवस्थी और उमेश सनवाल भी उपस्थित रहे।

यह भी पढ़ें-स्वामी विवेकानंद ने दुनिया को भारतीय मेधा व प्रतिभा से परिचत कराया: शिक्षा मंत्री

व्यापारी पंचायत में सर्वोदय नगर के कोषाध्यक्ष आलोक जैन, सोनी शुक्ला, शशिकांत शुक्ला सहित सैकड़ों व्यापारी उपस्थित थे तथा व्यापारी पंचायत को प्रदेश के वरिष्ठ उपाध्यक्ष अविनाश त्रिपाठी, लखनऊ के महामंत्री विजय कनौजिया, ट्रांस गोमती के प्रभारी मनीष पांडे, ट्रांस गोमती के अध्यक्ष अनिरुद्ध निगम, महामंत्री सर्वेश मिश्रा, महामंत्री नरेंद्र शर्मा ने भी संबोधित किया तथा नगर कार्यकारिणी के उपाध्यक्ष राजीव शुक्ला, मसीह उजमा गांधी, मोहम्मद आदिल, मोहम्मद आरीफ सहित अनेक गणमान्य लोग मौजूद रहे।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

लखनऊ लाइव

स्वामी विवेकानंद ने दुनिया को भारतीय मेधा व प्रतिभा से परिचत कराया: शिक्षा मंत्री

Published

on

भारतीय नागरिक परिषद की युवा दिवस संगोष्ठी में बोले बेसिक शिक्षा मंत्री

लखनऊ। आज पूरी दुनिया भारतीय युवाओं की मेधा और प्रतिभा का लोहा मान रही है। अमेरिका जैसे अपने युवाओं से कह रहे हैं कि वह पढ़ने-लिखने पर ज्यादा ध्यान दें, वरना वह भारतीय युवाओं से पीछे हो जाएंगे। स्वामी विवेकानंद ने सबसे पहले दुनिया को भारतीय प्रतिभा और ज्ञान से दुनिया से रूबरू कराया। उन्होंने अपने ज्ञान और कौशल से अकेले ही पूरी दुनिया को आश्चर्य में डाल दिया था। स्वामी विवेकानंद ने भारत को उसका खोया हुआ गौरव वापस दिलाने की पहल की थी। यह बातें भारतीय नागरिक परिषद द्वारा विवेकानंद जयंती पर आयोजित युवा दिवस संगोष्ठी में बेसिक शिक्षा मंत्री सतीश चंद्र द्विवेदी ने कहीं।

शिक्षा मंत्री ने कहा, आज स्वामी विवेकानंद होते तो भारतीय युवाओं की दुनिया में धाक देखकर अपने सपने को पूरा होते देख बहुत खुश होते। भारतीय युवाओं को लेकर स्वामी विवेकानंद के सपने अब रंग लाने लगे हैं। स्वामी विवेकानंद सबसे अधिक शिक्षा को महत्व देते थे वह कहते थे किसी भी देश का जीवन रूपी रक्त उसकी शिक्षण संस्थाओं और विद्यालयों में होता है जहां लड़के और लड़कियां शिक्षा प्राप्त कर रहे होते हैं। श्री द्विवेदी ने कहा, निश्चित रूप से विद्यालयों और विद्यार्थियों को पवित्र होना चाहिए। छात्रों को पवित्रता सिखाई जानी चाहिए। इसीलिए हम जीवन के विद्यार्थी खंड को ब्रह्मचर्य आश्रम करते हैं। स्वामी विवेकानंद के बताए रास्ते पर ही चल कर हम सब अपना विकास कर सकेंगे ऐसा विकास जो विश्व के कल्याण का साधन बन सके।

यह भी पढ़ें-‘अटल दर्शन’ के लिए खुला लोकभवन, पूर्व प्रधानमंत्री को बच्चे ने दी श्रद्धांजलि

विशिष्ट अतिथि विधान परिषद सदस्य उमेश द्विवेदी ने कहा, स्वामी विवेकानंद अपने समय के भारत को एक सुप्त सिंह के रूप में देखते थे। जिसे जागृत करने के लिए ऐसे नेतृत्व की आवश्यकता थी जो अपने समाज के हित में हर कार्य बिना हिचक करना जानता हो, वह कार्य चाहे जितना कठिन हो। विवेकानंद के ज्वलंत विचारों ने न केवल उनके जीवन काल में ही भारत की आलस्य निद्रा भंग कर दी बल्कि उनके जन्म के 157 साल बाद आज भी वर्तमान संदर्भों में भी उतने ही खरे उतर रहे हैं।

ऑल इंडिया पॉवर इंजीनियर्स फेडरेशन के चेयरमैन शैलेन्द्र दुबे ने कहा कि स्वामी विवेकानंद ने सदैव शिक्षा और विकास को सर्वोपरि माना। उनका स्पष्ट मत था कि हमें प्राचीन ज्ञान का तिरस्कार नहीं करना है लेकिन आधुनिक ज्ञान से भी मुंह नहीं मोड़ना है, दोनों का समन्वय करके चलना है। स्वामी विवेकानंद क्रांति के जनक भी थे। क्रांति की परिभाषा बताते हुए स्वामी विवेकानंद कहा करते थे क्रान्ति से ही नया भारत निकलेगा। वे कहते थे नया भारत निकल पड़े मोची की दुकान से, भड़भूँजे के भाड़ से, मजदूर के कारखाने से, हॉट से बाजार से, निकल पड़े झाड़ियों जंगलों पहाड़ों पर्वतों से यानी जन-जन को क्रांति अर्थात सार्थक परिवर्तन के लिए जगाने के आवाहन के प्रतीक थे स्वामी विवेकानंद।

यह भी पढ़ें-राष्ट्रीय युवा महोत्सवः तस्वीरों में देखिए कैसा है लखनऊ में जुटा ‘लघु भारत’

भारतीय नागरिक परिषद के अध्यक्ष चंद्र प्रकाश अग्निहोत्री, संस्थापक न्यासी वरिष्ठ अधिवक्ता रमाकांत दुबे और महामंत्री रीना त्रिपाठी ने भी अपने विचार रखते हुए कहा 12 जनवरी 1863 को बंगाल में जन्मे बालक ने देश के आध्यात्मिक व सांस्कृतिक आकाश में छाए कुहासे को सूर्य की भांति अपने प्रखर तेज से विनष्ट कर दिया और हिंदुत्व के नवजागरण की आधारशिला रखी। स्वामी जी के विचार वर्तमान भारत विशेषकर उसकी युवा पीढ़ी में देशाभिमान और धर्म में आस्था के पुनर्जागरण की दृष्टि से आज और अधिक प्रासंगिक और अनुकरणीय हैं।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

January 12, 2020, 10:21 pm
Fog
Fog
13°C
real feel: 14°C
current pressure: 1020 mb
humidity: 89%
wind speed: 0 m/s N
wind gusts: 0 m/s
UV-Index: 0
sunrise: 6:27 am
sunset: 5:02 pm
 

Recent Posts

Trending