Connect with us

लाइफ स्टाइल

World Liver day : जान पर भी भारी पड़ सकती है लिवर के प्रति लापरवाही, इन लक्षणों को न करें नजरअंदाज

Published

on

लखनऊ। मानव शरीर का वैसे तो हर अंग महत्वपूर्ण है और हर किसी का अपना अलग रोल है लेकिन दिमाग और लिवर (यकृत) सबसे महत्वपूर्ण हैं। दिमाग जहां पूरे शरीर के क्रिया कलापों को निर्देशित और संचालित करता तो वहीं लिवर इन सभी कार्यों को करने के लिए भोज्य पदार्थों को पचा कर शरीर को ताकत और ऊर्जा प्रदान करता है। इसलिए लिवर को शरीर का इंजन कहें तो कोई अतिश्योक्ति नहीं। पाचन के अलावा लिवर हमारे खून को साफ करता है और विषैले पदार्थों को खून में मिलने से रोकता है। लिवर शरीर को नुकसान पहुंचाने वाले पदार्थों को निष्क्रिय करता है और प्रोटीन बनाता है जिससे हम रक्तस्त्राव और संक्रमण से बचे रहते हैं। इसके अलावा लिवर विटामिन बी12, ग्लूकोज और आयरन आदि को जमा करने का भी काम करता है।

यह भी पढ़ें-एकता कपूर ने इंस्टाग्राम पोस्ट से दिया हिंट, मॉनी रॉय नागिन 3 में करेंगी वापसी…

किन्हीं कारणों से अगर हमारा लिवर बीमार या कमजोर पड़ जाए तो उसका खामियाजा पूरे शरीर को उठाना पड.ता है। अगर लम्बे समय तक लिवर की बीमारी बनी रहे तो यह हमारे जीवन पर भी भारी पड़ सकती है। इसीलिए लिवर संबंधी बीमारियों के प्रति लोगों में जागरूकता लाने के लिए हर वर्ष 19 अपै्रल को वर्ल्ड लिवर डे मनाया जाता है। एक जानकारी के मुताबिक लिवर की बीमारी भारत में मौत की 10वीं सबसे बड़ी वजह है। लिवर हमारे सम्पूर्ण पाचन प्रक्रिया का केन्द्र बिन्दु होता है इसलिए आवश्यक है कि लिवर का खास ध्यान रखा जाए। लिवर के रोगों से जुड़ी समस्याओं में लिवर सिरोसिस अहम है। बीमारी ज्यादा बढ़ने पर लिवर ट्रांसप्लांट तक कराना पड़ सकता है। वर्ल्ड लिवर डे पर जानिए क्या है फैटी लिवर बीमारी, इसके लक्षण और बचाव।

क्या है फैटी लिवर बीमारी

जब लिवर में फैट निश्चित मात्रा से अधिक हो जाता है तो उसे फैटी लिवर डिजीज कहते हैं। आमतौर पर लिवर में फैट की मात्रा 5 प्रतिशत से कम होनी चाहिए, लेकिन जब फैट 5 प्रतिशत से अधिक हो जाता है तो खतरा बढ़ जाता है।
लिवर संबंधी बीमारियों को पहचानने के लिए कुछ संकेतों पर ध्यान देना होता है जैसे किसी व्यक्ति को पीलिया हो जाए, अधिक डकार आने लगे, खाना खाने पर पेट फूल जाए और पाचन तंत्र बिगड़ जाए तो तुरंत डॉक्टर से सलाह लें। आपको लिवर संबंधी बीमारी हो सकती है।

लिवर फैट को ना करें नजर अंदाज

लिवर के बढ़ते फैट को नजरअंदाज करना आपकी बड़ी गलती साबित हो सकती है। अगर समय पर इसका इलाज नहीं करते हैं, तो कुछ सालों में एक स्टेज आता है जिसमें लिवर सिकुड़ने लगता है। धीरे-धीरे लिवर काम करना बंद कर देता है। ऐसे में शरीर में पानी जमा होने लगता है, नसें फूल जाती हैं और उससे ब्लीडिंग होने का खतरा होता है।
लिवर संबंधी बीमारी का समय पर पता लग जाये तो अच्छी डाइट, नियमित एक्सरसाइज और दवाइयों के जरिए इलाज कर इसे नियंत्रित किया जा सकता है।

आयुर्वेद में मौजूद है लिवर को हेल्दी रखने का उपाय

आयुर्वेद में बीमारियों के उपचार से ज्यादा इस बात पर जोर दिया जाता है कि बीमारियां हो ही नहीं। इसलिए वह स्वस्थ्य लिवर के लिए अच्छी जीवनशैली और संतुलित आहार पर जोर देता है। इसमें फल, सब्जियां, डेयरी उत्पाद, अनाज, प्रोटीन और वसा भी शामिल है। अपने खानपान में महज कुछ बदलाव करके ही हम अपने लिवर को किसी भी तरह के संक्रमण से बचा सकते हैं। हम आपको बता रहे हैं उन 9 चीजों के बारे में जिनका नियमित रूप से सेवन करने से लिवर की नैचरल तरीके से सफाई हो पाएगी…

लहसुन
लहसुन लिवर में मौजूद विषैले पदार्थों या टॉक्सिंस को हटाने में मदद करता है। वह उन एंजाइम को सक्रिय करता है जो टॉक्सिंस को हटाते हैं। इसके अलावा इसमें एलिसिन का उच्च स्तर होता है जिसमें एंटीऑक्सिडेंट, एंटीबायोटिक और एंटिफंगल गुण होते हैं। इसके अलावा इसमें सेलेनियम भी होता है जो एंटीऑक्सिडेंट की प्रक्रिया को और प्रभावी बनाता है। ये लिवर को साफ करने में सहायता करते हैं।

गाजर
गाजर में मौजूद विटमिन ए लिवर की बीमारी को रोकता है। इसका जूस लीवर की गर्मी और सूजन को भी कम करता है। लीवर सिरोसिस में पालक व गाजर का मिश्रित रस फायदेमंद साबित होता है। गाजर में इनप्लांट
फ्लेवोनॉयड्स और बीटा-कैरोटीन नामक तत्व भी पाए जाते हैं जो लीवर के सुचारू संचालन में सहयोग करते हैं।
सेब
सेब को संपूर्ण स्वास्थ्य के लिए ही अच्छा माना जाता है। लिवर के लिए भी सेब बेहद फायदेमंद है। सेब में पेक्टिन होता है जो शरीर को शुद्ध करने और पाचन तंत्र से विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालने में मदद करता है।

अखरोट
अखरोट में एमिनो ऐसिड पाया जाता है जो प्राकृतिक रूप से लिवर को डीटॉक्स करता है इसलिए इसका सेवन करना चाहिए।

ग्रीन टी
ग्रीन टी में मौजूद एंटीऑक्सिडेंट लिवर के कार्य को बेहतर बनाता है इसलिए दूध की चाय की बजाए ग्रीन टी पीने की आदत आज से ही डालें।

खट्टे फल
विटमिन-सी से भरपूर संतरा, नींबू आदि खट्टे फल लिवर की सफाई करने की क्षमता को बढ़ाते हैं जिससे यह एंजाइम का उत्पादन करता है।

पत्तेदार सब्जियां

हरी पत्तेदार सब्जियां खून में मौजूद विषाक्त पदार्थों को शरीर से बाहर निकालने में मदद करती हैं। इसके अलावा वे शरीर में भारी धातुओं के असर को कम करके लिवर की रक्षा करते हैं। इसलिए जितना हो सके हरी पत्तेदार सब्जियां रोज खाएं। इससे आपकी किडनी की हरियाली हमेशा कायम रहेगी।

हल्दी 

इसके गुण किसी से छिपे नहीं हैं। लिवर के लिए भी यह किसी चमत्कार से कम नहीं है जो हमारे लिवर में होने वाले रैडिकल डैमेज की मात्रा को कम करता है। हल्दी वसा के पाचन में मदद करती है और पित्त का निर्माण करती है, जो हमारे लिवर के लिए प्राकृतिक डीटॉक्सिफायर का काम करता है।

चुकंदरः विटमिन सी का एक अच्छा स्रोत है। यह पित्त को बढ़ाता है और एंजाइमी गतिविधि को बढ़ावा देता है।

लिवर की सामान्य बीमारी से निपटने के घरेलू उपचार

-शहद और गुड़ डाइट में शामिल करें।
-हल्दी एंटीआक्सीडेंट के रूप में काम करती है। सुबह या रात को सोने से पहले एक चम्मच हल्दी को एक गिलास दूध में-घोलकर पीने से लिवर की समस्या में राहत मिलती है।
-सुबह उठें तो 3 से 4 गिलास पानी जरूर पीएं।
-लिवर के मरीज नारियल पानी, शुद्ध गन्ने का रस अपनी डाइट में शामिल कर सकते हैं।
-सब्जियों का सूप पीएं, अमरूद, तरबूज, नाशपाती, मौसमी, अनार, सेब, पपीता, आलूबुखारा जैसे फल फायदेमंद होते हैं।
-सलाद, अंकुरित दाल और उबला हुआ खाना अधिक मात्रा में खाएं।http://www.satyodaya.com

Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

लाइफ स्टाइल

क्या आप भी लगाते हैं बच्चों को नेल पॉलिश? तो हो जाएं सावधान!

Published

on

सजना-सवरना ज्यादातर महिलाओं को पसंद होता है। इसके साथ ही नन्हे-मुन्ने बच्चों को भी सजाना उन्हें बहुत अच्छा लगता है। आप भी अपने घर में छोटे बच्चों को प्यार से तैयार करते होंगे। विशेष तौर पर उनके हाथ में नेल पॉलिश तो जरूर लगा देते होंगे। लेकिन क्या आपने कभी सोचा है कि नेल पॉलिश से उनके स्वास्थ्य पर कैसा असर पड़ेगा? डॉक्टरों के मुताबिक अच्छा असर नहीं पड़ेगा। जी हां, नेल पॉलिश छोटे बच्चों की सेहत पर बुरा असल डाल सकती है। क्योंकि उसमें मौजूद केमिकल बच्चों की बॉडी में पहुंच सकते हैं और कई गंभीर बीमारियों का कारण बन सकते हैं।  

दरअसल, जानकारों के अनुसार, नेल पॉलिश में टाल्यूईन, फार्मेल्डीहाइड और डायब्यूटल फाइलेट जैसे केमिकल मौजूद होते हैं, जो नेल पॉलिश के टेक्सचर को मेनटेन रखने और उन्हें सूखने व नाखून पर बने रहने में मदद करते हैं। जब बच्चों के हाथ पर इसे लगा देते हैं तो स्वभाविक है कि वो बार-बार अपना हाथ मुंह में डालेंगे ही और ऐसा करने से ये कैमिकल्स उनके शरीर में चले जाएंगे। इसकी वजह से उन्हें न्यूरो, गट और सांस के जुड़ी समस्या हो सकती है।

हालांकि, अब नेल पॉलिश में इन खतरनाक कैमिकल्स का इस्तेमाल होना बंद हो गया है। लेकिन कुछ लोग अभी इन कैमिकल्स का प्रयोग कर रहे हैं। ऐसे ज्यादातर कैमिकल सस्ती और नकली पॉलिश बनाने वाले अभी भी इस्तेमाल कर रहे हैं।

ये भी पढ़ें: लड़की के साथ दो पुलिसवालों ने किया रेप, कोर्ट ने कहा नहीं होगी जेल

डॉक्टरों की यह सलाह है कि बच्चों को नेल पॉलिश न लगाई जाए। लेकिन लगाना ही है तो वॉटर बेस्ड नेल पॉलिश खरीदें, इनमें ये हार्मफुल केमिकल्स और अडिक्टिव्स नहीं होते हैं इसलिए इन्हें बच्चों के लिए भी सुरक्षित माना जाता है।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

लाइफ स्टाइल

इन राशि वाली लड़कियां होती हैं बेहद रोमांटिक, पार्टनर्स को करती हैं खूब प्यार

Published

on

फाइल फोटो

नई दिल्ली। सभी लड़के-लड़कियां चाहते हैं उन्हें उनका पार्टनर खूब सारा प्यार और इज्जत दे। उनके पार्टनर्स उनके साथ ज्यादा से ज्यादा से समय बिताए। सभी पार्टनर्स चाहते हैं उनकी गर्लफ्रेंड और बॉयफ्रेंड उनके साथ रोमांटिक पल बिताएं। चलिए आज हम आपको कुछ ऐसी राशि वाली लड़कियों के बारे में बताएंगे जो आपके लिए परफेक्ट होने के साथ-साथ लकी भी होंगी।

वृषभ राशि की लड़कियां

इस राशी वाली लड़कियां लव के बारे में थोडा अलग ढंग से सोचती हैं। इन लड़कियों को अपने पार्टनर के साथ अधिक-से-अधिक समय बिताना अच्छा लगता है। वहीं ये स्वभाव की बहुत चंचल होती हैं। जिस वजह से यह अपने पार्टनर से बहुत ज्यादा प्यार और केयर पाती हैं। ये लड़कियां अपने लाइफ-पार्टनर के लिए हर रोज कुछ नया करने के बारे में सोचती हैं। उन्हें तरह-तरह के गिफ्टस देना भी पसंद करती हैं।

सिंह राशि

सिंह राशि वाली लड़कियों को इस सीरियस या टिपिकल पार्टनर की बजाए एक फनी पार्टनर ज्यादा पसंद होता है। ये लड़कियां अपने पार्टनर के साथ फ्लर्ट करना भी खूब पसंद करती हैं। वहीं उन्हें रिझाने के अलग-अलग तरीके ढूंढती रहती हैं। लड़ाई झगड़ा होने पर भी यह लड़कियां खुद जाकर अपने पार्टनर को मनाती हैं। ऐसे में इन लड़कियों के साथ रहने को भी लड़के खुद को लकी समझते हैं।

ये भी पढ़ें:शादी के बाद आयशा जुल्का ने बनाई बॉलीवुड से दूरी, अब पति के साथ कर रहीं स्पा बिजनेस

वृश्चिक राशि

इस राशि की लड़कियां अपने रिश्ते को पूरे जुनून के साथ निभाती हैं। इन लड़कियों को अपने पार्टनर का अन्य लड़कियों से बातचीत करना पसंद नहीं होता। इन्हें एनर्जेटिक लड़के बहुत पसंद होते हैं।

मीन राशि

इस राशि की लड़कियां बेहद रोमांटिक होती हैं। ये जिस लड़के से प्यार करती हैं उसी के साथ रहने में विश्वास रखती हैं। जो लकड़े इन लड़कियों के साथ रिलेशनशिप में रहते हैं वह लाइफ में कभी धोखा नहीं खाते हैं। मीन राशि वाली लड़कियां अपने पार्टनर से किसी भी तरह की बात नहीं छिपाती हैं। अपने दिल की हर बात बेझिझक अपने पार्टनर से कर लेती हैं।

मकर राशि

इन राशि वाली लड़कियां स्वभाव से जिद्दी होती हैं। अपने पार्टनर से जिद्द करके अपनी साडी बातें मनवा लेती हैं। कई बार पार्टनर के पास समय न होने पर भी जिद्द करके उससे बातें करती हैं, जिससे पता चलता है कि उनकी लाइफ में आप बहुत महत्वपूर्ण हैं।वह आपके बगैर एक पल भी नहीं रह सकती है। http://www.satyodaya.com

Continue Reading

प्रदेश

सबसे बड़ा जुर्म दे रहा है नवाबों के शहर लखनऊ में दस्तक…

Published

on

लखनऊ। स्टार भारत का फ़्लैगशिप शो ‘सावधान इंडिया’ पिछले सात सालों से भारत के बेहद चैंका देने वाले अपराधों को लेकर समाज को जागरूक और सावधान करने में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है। ‘स्पेशल क्राइम सीरीज़’ के नाम से ख़ास तौर पर पांच हिस्सों में बनी यह सीरीज़ आने वाली 29 जुलाई को, रात 10ः30 बजे आपके घरों में हलचल मचाने वाली है। इस सीरीज़ में हफ़्ते में एक कहानी दिखाई जाएगी, जोकि 5 दिन यानी 5 एपिसोड्ज तक चलेगी। सभी स्पेशल क्राइम सीरीज़ में जघन्य अपराधों के बारे में अवगत करने वाली कहानी दिखाई जाएगी। जिनमें हैरतअंगेज़ करने वाले रोमांच का स्तंर काफ़ी ज़्यादा होने वाला है।

यह भी पढ़ें :- महिलाओं को उनका अधिकार दिलाने के लिए राज्य महिला आयोग ने किया कार्यशाला का आयोजन…

‘स्पेशल क्राइम सीरीज़’ के पहले एपिसोड में बेहद प्रतिभाशाली अभिनेत्री सुकृति कांडपाल को मुख्य भूमिका में दिखाया जाएगा जो एक चार महीने का गर्भधारण की हुई महिला की भूमिका निभा रही है। यह एक प्रतिशोध की कहानी है, जिसमें वह एक राजनीति से ताल्लुक रखने वाले परिवार में आती है और उनका इरादा इस परिवार को पूरी तरह से बर्बाद कर देने का है। सुकृति कांडपाल इस शो के प्रमोशनल टूर के लिए ख़ूबसूरत शहर लखनऊ पहुंची। लख़नऊ में अपनी यात्रा के दौरान सुकृति ने शहर के प्रसिद्ध स्मारकों का जायज़ा लिया, यहाँ के स्थाा़नीय लज़ीज़ पकवानों का स्वाद चखा और साथ ही मीडिया तथा अपने फ़ैंस से मुलाक़ात भी की।

यह भी पढ़ें :- सुबुही खान: मौलाना कल्बे जवाद को मांगनी पड़ेगी भारतवासियों से माफी

सुकृति अपनी बात रखते हुए कहती हैं, मैं ‘सावधान इंडिया’ में अपनी भूमिका को लेकर बहुत ही उत्साहित हूँ। मैं अपने करियर में इस तरह के प्रोजेक्ट का हिस्सा कभी नहीं रही हूँ। इस कहानी में सौंदर्या का किरदार निभाना मेरे लिए वाक़ई मुश्किल है और मुझे इस शो में अपने काम को लेकर दर्शकों की प्रतिक्रिया का बेसब्री से इंतज़ार है। आज मुझे नवाबों के शहर लखनऊ आकर बेहद ख़ुशी हो रही है। मैंने यहाँ के स्वादिष्ट नवाबी खाने का स्वाद चखा, जिसे खाकर मैं उंगलियां चाटती रह गई और सबसे ज़रूरी बात कि मैंने यहां ढेर सारी तस्वीरें खिंचवाईं। अब इन बेहतरीन यादों के साथ मैं मुंबई लौटूँगी।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

September 12, 2019, 9:55 am
Fog
Fog
30°C
real feel: 37°C
current pressure: 1010 mb
humidity: 88%
wind speed: 3 m/s E
wind gusts: 3 m/s
UV-Index: 2
sunrise: 5:20 am
sunset: 5:45 pm
 

Recent Posts

Top Posts & Pages

Subscribe to Blog via Email

Enter your email address to subscribe to this blog and receive notifications of new posts by email.

Join 10 other subscribers

Trending