Connect with us

साक्षात्कार

रोजमर्रा की घटनाओं का पैना विश्लेषण है रवीश कुमार अग्रवाल की पुस्तक ‘जागते रहो’…

Published

on

शब्दों को ओढ़े खूबसूरत भाव है ‘जागते रहो’ पुस्तक

लखनऊ। सोने को आभूषणों का रूप देने में माहिर सर्राफा कारोबारी रवीश कुमार अग्रवाल इससे इतर एक और हुनर के धनी हैं।रवीश कुमार शब्दों की माला में भी बेहद ही माहिर हैं। सर्राफा व्यापार में अपना अलग मुकाम बनाने के साथ ही उन्होंने सामाजिक दायित्व का भी बखूबी निर्वहन किया। उनकी लिखी अनेकों पुस्तकें उनके इस भाव की उपज हैं।

रोजमर्रा की घटनाओं पर बारीक नजर रखने वाले श्री अग्रवाल समिति के उपाध्यक्ष की नयी रचना बेहद ही ख़ास और रोचक है।अपने सूक्ष्म विश्लेषणों को उन्होंने एक पुस्तक का रूप दिया है जिसका नाम है ‘जागते रहो’।

लखनऊ के संगीत नाटक अकेडमी के संत गाडगे सभागार में 3 अप्रैल 2019 को रवीश कुमार अग्रवाल की किताब ‘जागते रहो’ का विमोचन हुआ। रवीश कुमार अग्रवाल ने इस किताब में अपने अनुभवों को शब्दों की शानदार पोशाक पहनाई है। पाठकों को सहसा आभास हो सकता है कि कहीं न कहीं इस तरह की घटनाएं उनके जीवन का भी हिस्सा रहीं हैं।http://www.satyodaya.com

प्रदेश

पीसीएस-जे में 557वां स्थान पाने वाले अभय राजवंशी ने सत्योदय के साथ साझा किये सफलता के राज

Published

on

लखनऊ। उत्तर प्रदेश न्यायिक सेवा (पीसीएस जे) 2018 का शनिवार को परिणाम घोषित हुआ। इस परीक्षा में 610 पदों पर चयन किया गया है। सफल अभ्यर्थियों में एक नाम राजधानी के अभय राजवंशी पुत्र राजेंद्र प्रसाद का भी है जिन्होंने पहले ही प्रयास में 557 वां स्थान प्राप्त किया है। अभय ने अपनी सफलता का श्रेय अपने गुरुजनों, परिवार, सीनियर्स और खुद की कड़ी मेहनत को दिया है।

जानकीपुरम, लखनऊ के निवासी अभय ने सत्योदय से बातचीत करते हुए बताया कि वो शुरू से ही ज्यूडीशरी का हिस्सा बनना चाहते थे। उनके लिये ये प्रोफेशन नहीं बल्कि पैशन है। लोगों को न्याय देना यह बात उन्हें अंदर से प्रेरित करती है। लखनऊ यूनिवर्सिटी से एलएलबी (आनर्स) 2017 में और एल एल एम 2018 में किया। वहां भी ऐसे सीनियर्स का साथ मिला जिन्होंने इस सेवा की तैयारी करने में उनकी काफी मदद की।

अभय ने बताया कि वो बहुत ही फोकस रहकर तैयारी करते थे इसलिये कभी भी किसी और सेवा की तैयारी नहीं की। खाने-पीने के अलावा ज्यादातर टाइम वो पढ़ाई में ही लगाते थे। एक दिन में औसत 11 से 12 घंटे उनका समय पढ़ते हुए गुजरता था। इसके लिये परिवार से भी बहुत सहयोग मिला। कभी भी उनसे छोटे-बड़े कामों के लिये नहीं कहा गया। कोई नहीं चाहता था उनको पढ़ाई में किसी भी प्रकार का व्यवधान हो।

ये भी पढ़ें: Apollo 11 मिशन ने क्यों ला दी थी प्रेमिकाओं की आंखों में चमक, पहले कदम की 50 वीं सालगिरह

अपनी तैयारी को लेकर उन्होंने कहा कि सबसे पहले प्रीलिम्स की तैयारी की। पहले चरण के बाद जब उन्होंने आकलन किया तो पता चल गया कि वो मेंस दे पाएंगे। बिना रिजल्ट का इंतजार किये और समय गंवाए मेंस की तैयारी शुरू कर दी थी। इसके लिये जितना भी स्टडी मैटीरियल उपलब्ध था उसे पढ़ा, खुद से भी नोट्स बनाए, उत्तर लेखन किया और जो भी महत्वपूर्ण टॉपिक्स थे उन्हें दोहराता रहा। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि यूट्यूब और एजुकेशन एप्स से काफी मदद मिली, विशेष तौर पर इतिहास विषय में इन डिजिटल प्लेटफॉर्म्स से बहुत फायदा पहुंचा।

अभय ने बताया कि मेंस में सलेक्शन हो जाने के बाद इंटरव्यू की तैयारी में उन्हें टीचर्स से काफी सहायता मिली। किस प्रकार के सवाल पूछे जाते हैं और कैसे उनके उत्तर दिये जाए इसे लेकर टीचरों ने उनका मार्गदर्शन किया। उन्होंने बताया कि इंटरव्यू में पूंछे गए ज्यादातर सवाल उनके विषय से जुड़े ही थे। अभय ने अपनी हॉबी के रूप में क्रिकेट का जिक्र किया था लेकिन इंटरव्यू में इससे जुड़ा कोई सवाल नहीं पूछा गया।

पीसीएस जे की तैयारी कर रहे लोगों को अभय ने सलाह दी कि फोकस रहें और अपने विषय पर मजबूत पकड़ बनाएं। उत्तर लेखन करते रहे यह मेंस में बहुत मदद करता है। साथ ही लगातार रिवीजन करते रहना चाहिये। महत्वपूर्ण टॉपिक्स को टाइम निकाल कर दोहराते रहें। http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Featured

पीली साड़ी वाली पोलिंग ऑफीसर का धमाकेदार इंटरव्यू, पर्सनल से प्रोफेशनल लाइफ तक

Published

on

लखनऊ। सोशल मीडिया पर एक तस्वीर तेजी से वायरल हुई। फोटो में महिला पोलिंग ऑफीसर हैं जिन्होंने पीली साड़ी पहन रखी है। तमाम तरह के मेसेजस के साथ वायरल हो रही फोटो ट्विटर जैसी सोशल साइट्स पर टॉप ट्रेंडिंग में है। बता दें, महिला पोलिंग ऑफीसर का नाम रीना द्ववेदी है और वो पीडब्लूडी में कार्यरत हैं।

सत्योदय से खास बातचीत में महिला पोलिंग ऑफीसर रीना द्ववेदी ने बताया कि कैसे तस्वीर के वायरल होने के बाद उनकी जिन्दगी में बदलाव आया है। लोग उनके साथ सेल्फी लेते हैं। उन्हें रास्ते में देख के पहचान लेते हैं। उन्होंने अपनी पर्सनल लाइफ से लेकर प्रोफेशनल लाइफ तक की बातें शेयर की। साथ ही फोटो के वायरल होने के बाद सोशल मीडिया पर हो रही ट्रोलिंग पर भी अपनी प्रतिक्रिया दी। http://www.satyodaya.com

Continue Reading

साक्षात्कार

सत्योदय से हुई ख़ास बातचीत में नीरज सिंह ने पार्टी की जीत को लेकर कह दी बड़ी बात, किये कई पारिवारिक खुलासे

Published

on

विकास के मुद्दों साथ भारी मतों से जीत दर्ज कराएगी भाजपा

लखनऊ। लोकसभा चुनाव 2019 के चौथे चरण का मतदान भी सफलतापूर्वक पूर्ण हो चुका है।ऐसे में आगे आने वाले चरणों के लिए सभी राजनीतिक पार्टियां एड़ी-चोटी का बल लगाती नजर आ रही हैं।इसी क्रम में सत्योदय से हुई ख़ास बातचीत में लखनऊ से भाजपा प्रत्याशी राजनाथ सिंह के छोटे बेटे नीरज सिंह ने अपनी नीतियों को लेकर कई अहम खुलासे किये।

यह भी पढ़ें-युवा नेता नीरज सिंह के काफिले ने घटना के दौरान चोटिल महिला की मदद, पहुंचाया अस्पताल…

आखिर क्यों नहीं मिला कोई पद

गोरखपुर विश्वविद्यालय से अपनी राजनीतिक करियर की शुरुआत करने वाले गृहमंत्री राजनाथ सिंह के छोटे बेटे नीरज सिंह स्वयं एमबीए पास हैं।अच्छी-खासी नौकरी को छोड़कर उन्होंने भाजपा का दामन थाम लिया था।इसके बावजूद भी अभी तक उन्हें पार्टी में किसी भी प्रकार का कोई पद आवंटित नहीं किया गया है।इस बारे में नीरज सिंह का मानना है कि अच्छा काम करने के लिए किसी ओहदे और पद की जरुरत नहीं होती है।पार्टी का कार्यकर्ता रहते हुए भी अपनी जिम्मेदारियों का वहन किया जा सकता है।

कुछ दिनों पहले पार्टी के प्रचार के दौरान नीरज सिंह का सामना कांग्रेस प्रत्याशी आचार्य प्रमोद कृष्णं से हुआ था।अपने राजनीतिक मतभेदों को दरकिनार रखते हुए युवा नेता नीरज ने कांग्रेस प्रत्याशी के पैर छु कर आशीर्वाद लिया।इस घटना पर चर्चा करते हुए उन्होंने बताया कि एक व्यक्ति को कभी भी अपने संस्कार नहीं भूलने चाहिए।राजनीति में नीतियों का विरोध होना चाहिए व्यक्ति विशेष का नहीं।आचार्य प्रमोद कृष्णम विपक्ष के प्रत्याशी ही नहीं गेरुआ वस्त्र धारण किये संत और बड़े भी हैं। संस्कृति ही इंसान को बनाती है।उन्होंने बताया कि उनके संस्कार ही हैं जिसने उन्हें पार्टी में बतौर कार्यकर्ता काम करने की इजाजत दी है।

पिछले बार से दुगने मतों से जीतेगी भाजपा

यह भी पढ़ें-हजरतगंज स्थित कैथड्रिल चर्च पहुंचे राजनाथ सिंह, मेघालय के मुख्यमंत्री कॉनराड समेत अन्य से की मुलाकात

इस बार सत्ता कौन जीतेगा के सवाल पर नीरज सिंह ने कहा कि वर्ष 2014 की मोदी लहर 2019 में आंधी बन चुकी है।भाजपा मुद्दों पर बात करती है, विकास की बात होती है।जनता को विकास के अलावा कुछ नहीं चाहिए इसलिए जनता ने इस बार भी पीएम मोदी को सत्ता में लाने का मन बना लिया है।इसके साथ ही उन्होंने चैलेंज किया है कि इस बार पार्टी पिछले साल का रिकॉर्ड भी तोड़ेगी।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

January 16, 2020, 12:26 pm
Rain
Rain
15°C
real feel: 15°C
current pressure: 1020 mb
humidity: 100%
wind speed: 1 m/s E
wind gusts: 1 m/s
UV-Index: 1
sunrise: 6:27 am
sunset: 5:05 pm
 

Recent Posts

Trending